About Us
परनाम!स्वागत बा राउर रियल भोजपुरी डॉट कॉम प। टीम रियल भोजपुरी आपन भोजपुरी प...
Real Bhojpuri Poll
 
भारत से बाहर भोजपुरी कहाँ बोलल जाला
सिंगापुर
मारीशस
फिजी
सब जगह
    

Articles

  • भोजपुरी आ दूसर इलाकाई भाषा से शब्द लेति रही तबे हिंदी अउरी समृद्ध होत रही: ई ठीक बा कि संवैधानिक रूप से भले आजु हिंदी राजभाषा के रूप में स्थापित हो गईल बा. बाकि एह बात से भी इंकार ना कइल जा सकें कि तमिल, कोंकणी, पंजाबी अउर कन्नड़ भाषी विद्वान हिंदी के वर्चस्व के लेकर भी सवाल खड़ा करे लागल बाड़न. मांग एह बात के होत बा कि उत्तर भारत के जे भी दक्षिण भारत में रोजी-रोटी पावत बा, कम से कम ओकरा दक्षिण भारत के एगो भाषा जरूर सीखें के चाहीं. बलुक एह फार्मूला के अनिवार्य कर दिहल जाय. काहें कि देखल जाय त दक्षिण भारत के लोग उत्तर भारत में हिन्दी में कामचलाऊ भाषा के ज्ञान हासिल कर लेले. तमिलनाडु में नई शिक्षा नीति के त्रिभाषा फार्मूला के एह नाते विरोध होत बा कि- नई शिक्षा नीति के बहाने केंद्र सरकार दक्षिण भारत में हिन्दी वर्चस्व स्थापित करें के प्रयास करत बा. सवाल ई बा कि अंग्रेजी कभी तमिलनाडु के आपन भाषा त रहें ना. अंग्रेजी जब तमिलनाडु पर थोपल गईल, तब ओकर त कवनों विरोध ना भईल? राजनीतिक रूप से भी देखल जाय त राममनोहर लोहिया के ‘अंग्रेजी हटाओ आंदोलन’ के मकसद भी तमिल भाषा के विरोध ना रहल.बलुक स्थानीय भाषा तमिल के स्थापिते कइल रहें. https://hindi.news18.com/news/bhojpuri-news/hindi-diwas-2022-one-has-to-learn-the-other-regional-language-with-hindi-bhojpuri-mohan-singh-4593933.html

    2 views

Website Security Test