About Us
परनाम!स्वागत बा राउर रियल भोजपुरी डॉट कॉम प। टीम रियल भोजपुरी आपन भोजपुरी प...
Real Bhojpuri Poll
 
भारत से बाहर भोजपुरी कहाँ बोलल जाला
सिंगापुर
मारीशस
फिजी
सब जगह
    

Articles

  • Bhojpuri: सतुआ आ ठेकुआ के सहारे विश्व भ्रमण कइला के कथा: पिनसिन से घर के खरचा चलते रहे. रिटायरमेंट का घरी जौन रुपया मिलल रहे ऊ जीवन बितावे खातिर पर्याप्त रहे. विश्व भ्रमण करावे वाली एगो कंपनी से तीनों जाना संपर्क कइल लोग. पता चलल कि दस गो देश के भ्रमण पर एक आदमी के तीन लाख रुपया लागी. एमें खाना- पीना नइखे. खाली घुमावे के प्रबंध बा, खाए आ नाश्ता करे खातिर आपन खरचा करे के परी. हं, चाय- बिसकुट मिल जाई. त एह भ्रमण में फ्रांस भी रहे. इंटरनेट बतवलस कि फ्रांस में दूगो केला के दाम 0.49 यूरो बा. ऊहो वजन कके. जदि केरा 0.25 किलो बा (250 ग्राम) त बड़े- बड़े केला दू गो आई.

    अब 0.49 यूरो के रुपया में कनवर्ट कइल जाई त 42 से 43 रुपया के बीच होई. त जब दूगो केरा के दाम 42 रुपया बा, त भोजन के दाम त आसमान छुअत होई. फ्रांस के लोगन खातिर त ई भाव सस्ता बा, बाकिर भारतीय लोगन खातिर सोचे के बिषय बा. त जेतना घूमे में खरचा होई ओकरा से बेसी त खाए में खरचा हो जाई. तीनों भोजपुरिया लोगन के पत्नी भी साथे गइल लोग. त सहिए कहाला कि समझदार मेहरारु लक्ष्मी होली सन. तीनों मित्र लोगन के पत्नी तय कइल लोग कि हमनी का जदि भोजपुरिया समाज के परंपरागत भोजन करब जा त भोजन पर कुछु खरचे ना परी. कइसे? मेहरारू समाज कहल कि हमनी का सब आदमी निरोग बानी जा. डायबिटीज वगैरह नइखे. त हमनींका अपना संगे सतुआ, ठेकुआ, अचार आ सूखा फल में खजूर, बादाम आ किसमिस ले चलल जाउ. कुछ मठरी आ सूखा मिठाई भी ले चलल जाउ. दस दिन के टूर बा. मजे से दस दिन के एतना राशन में कटि जाई. कौनो भर पेट खाके सूते के त नइखे. हल्का- फुल्का खाएके बा आ आनंद से घूमे के बा. एगो सीमित समय खातिर कम खइला के आनंद ऊहे जानता जे एकर प्रयोग कइले बा. जइसे- जइसे दिन बीती राशन के वजन भी कम होखत जाई. सब मरदाना लोगन के ई उपाय पसंद परल. त कपड़ा सरियावे का संगे- संगे सूखा भोजन के इंतजाम होखे लागल. तय भइल कि हवाई जहाज पर चढ़े के एक दिन पहिले सतुआ पिसाई आ ओही दिने ठेकुआ बनी ताकि दस दिन ले ऊ खाए लायक रही. ऊहे भइल.

    घूमत- घूमत भोजपुरिया लोगन के ग्रुप फ्रांस के राजधानी पेरिस पहुंचल. पहिलहीं ओह लोगन के मालूम हो चुकल रहे कि पेरिस के सिटी ऑफ लव, सिटी ऑफ लाइट्स आ कैपिटल आफ फैशन कहल जाला. त ओह दिने तीनो पत्नी लोग सलवार सूट पहिरले रहे लोग. सबसे पहिले ओह लोगन के इच्छा रहे कि एफिल टावर देखल जाउ. सही में टूर आपरेटर ओह लोगन के सबसे पहिले एफिल टावर ले गइल. खूब प्रेम से घूमि के आ फोटो खींच, खिंचवा के ऊ लोग बहुते तृप्त भइल लोग. एफिल टावर के कुछ लोग आइफिल टावर भी बोलेला आ लिखेला. ओइजे दिन के दू बजि गइल. खूब कस के भूख लागि गइल. त भोजपुरिया लोग एगो चालाकी कइले रहे. एगो कागज के ठोंगा में सब केहू दू- दूगो ठेकुआ लेके चलल रहे. बस एफिल टावर घूमत आ गते से पाकेट से ठेकुआ तूरि के चबात ओह लोगन के आनंदमय भ्रमण भइल.

    एहीतरे पांच दिन बीत गइल. ओमें से दू गो पुरुष के लागल कि ई सूखा भोजन त संतुष्टि नइखे दे पावत. एकरा अलावा रोज- रोज कबो सतुआ त कबो ठेकुआ आ मिठाई- नमकीन. मन उबिया गइल बा. त मेहरारू समाज समुझावल कि आधा भ्रमण काल त बीति गइल. अधे नू बांचल बा. ईहो कटि जाई. धैर्य राखीं सभे. हमनियो का आदमिए नू हंईं जा, त हमनी के मन त रोज- रोज सतुआ, चिउरा आ ठेकुआ खइला से नइखे उबियाइल. संतोष करीं सभे. त तय भइल कि सतुआ एक दिन नून डालिके त एक दिन गुर का संगे खाइल जाउ. एसे सवाद बदली आ खाना में वेराइटी के आनंद भी मिली. ऊहे भइल. मये भोजपुरिया लोग एफिल टावर के तीनों मंजिल चढ़िके थक चुकल रहे लोग. त अउरी कुछ जगह घूमिके रात खान बेहोश नियर सूतल लोग.

    अगिला दिने फेर पुरुष समाज के सतुआ, ठेकुआ आ चिउड़ा से मन उबिया गइल. त एगो उपाय खोजाइल. देखल लोग कि 500 ग्राम के ब्रेड (पाव रोटी) के दाम 1.92 यूरो बा माने रुपया में 168 रुपया. त छवो आदमी कहल लोग कि दू परानी के 336 रुपया परी. कौनो बात ना, जब एतना खरच भइल त एक दिन ब्रेड के आनंद लिया सकेला. ओह दिन एक बेरा ब्रेड आ नमकीन, अचार वगैरह खाके खूब तृप्त भइल लोग. बाकिर खइला का बाद लागल कि ब्रेड एकाध दिन त खाइल जा सकेला, रोज- रोज ना. काहें से कि अगिला दिन ब्रेड खाके कब्ज नियर हो गइल. आधा किलो के ब्रेड के लोथ एक आदमी खाइयो ना पावल. ब्रेड स्लाइस नियर काटल ना रहे. ओकरा के नोचि के खाए के रहे. आधा किलो ना खा गइल त डस्टबिन में फेंके के परल. अगिला दिने चिउड़ा के एगो नया व्यंजन के अविष्कार भइल. खाए के 20 मिनट पहिले चिउड़ा के पानी में भिंगा दिहल जाउ. बीस मिनट में चिउड़ा फूलि के खाए लाएक हो जाउ. फेर ओकरा में जेकरा अंचार मिलावे के बा ऊ अंचार मिलावे आ जेकरा गुर मिलावे के बा ऊ गुर मिलावे. ढेर आदमी भींजल चिउरा का संगे अंचार आ नमकीने पसंद करे. एहीतरे देखत- देखत दस दिन बीति गइल. घूम फिर के जब भोजपुरिया भाई लोग अपना देश भारत आइल लोग तो लागल कि भात- दाल, तरकारी आ रोटी संसार के सबसे स्वादिष्ट भोजन ह. ऊहे भात- दाल जौन जीवन भर खइले रहे लोग, ओमें नया सवाद आवे लागल. बाकिर सचहूं एह छवो लोगन के ऊपर खाए के मद में नाम मात्र के खर्च भइल. त हमनी के पुरनिया एही से सतुआ, चिउड़ा, ठेकुआ आ नमकीन के परंपरा ना रखले रहल ह लोग. ओकरा में बहुते गहिर दूर दृष्टि बा. Source-https://hindi.news18.com/news/bhojpuri-news/story-of-world-tour-with-the-help-of-satua-and-thekua-in-bhojpuri-3817592.html

    2 views

Website Security Test